मतदान के लिए सूची में नाम होना ज़रूरी, इन दस्तावेजों से भी कर सकेंगे मतदान

लोकसभा चुनाव में मतदाता सूची में नाम होना बहुत ज़रूरी है क्योंकि सूची में नाम होने पर ही व्यक्ति अपना मतदान कर सकेगा। अगर सूची में नाम है लेकिन मतदाता पहचान पत्र नहीं तो वह व्यक्ति वैकल्पिक पहचान पत्र से मतदान कर सकेगा।  आइए जानते हैं विस्तार से-

सभी का मतदान करना है ज़रूरी-

लोकतंत्र के महापर्व में सभी का मतदान करना जरूरी है। चुनाव आयोग भी सभी लोगों से मतदान के दिन घर से निकलने और मतदान करने की अपील कर रहा है। गुरुग्राम के जिला निर्वाचन अधिकारी व उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने कहा है कि लोकतंत्र के पर्व में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। इसके लिए मतदाता यह भी से देखले की कि उनका नाम मतदाता सूची में शामिल है या नहीं।जिस मतदाता का नाम मतदाता सूची में है, केवल वही मतदान कर सकता है।  जानकारी के लिए आपको बता दें अगर किसी मतदाता का नाम मतदाता सूची में है, लेकिन उसके पास मतदाता पहचान पत्र नहीं है तो वह वैकल्पिक पहचान पत्र दिखाकर अपना वोट डाल सकता है। मतदाता के पास पुराना वोटर कार्ड है तो भी वह वोट डाल सकता है लेकिन उसका नाम उस क्षेत्र की मतदाता सूची में होना आवश्यक है। एक बार फिर हम आपको बता दें , कोई भी मतदाता केवल तभी वोट डाल सकता है जब उसका नाम मतदाता सूची में दर्ज हो।

मतदान के लिए इन दस्तावेजों का भी कर सकते हैं इस्तेमाल

एपिक के अलावा मतदाता वोट करने के लिए फ़ोटो लगा हुआ पहचान दस्तावेजों का उपयोग करके भी वोट डाल सकते हैं। इन दस्तावेजों में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, केंद्रीय, राज्य सरकार, सार्वजनिक उपक्रमों या सार्वजनिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किए गए फोटो के साथ पहचान पत्र, बैंक या डाकघर द्वारा जारी फोटो लगी पासबुक, पैन कार्ड, श्रम मंत्रालय द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी  किया गया स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फ़ोटो के साथ पेंशन दस्तावेज और आधार कार्ड शामिल हैं।

हरियाणा राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट ceoharyana.gov.in पर विधानसभाकी  मतदाता सूचियां अपलोड हैं, उसे डाउनलोड करके भी कोई व्यक्ति अपना नाम मतदाता सूची में चेक कर सकता है। इसके अलावा वोटर हेल्पलाइन नंबर- 1950 पर कॉल करके भी जानकारी ली जा सकती है।

Leave a Comment